Chalu Bhabhi Aur Main

Click to this video!
Arashdeep Kaur 2018-01-20 Comments

हैलो दोस्तो, मैं अर्शदीप कौर उर्फ चुद्दकड़ अर्श का सभी पाठकों को प्यार भरा सलाम। मैं आपके सामने चुदाई की एक और गर्मा-गर्म कहानी लेकर हाजिर हुई हूं उम्मीद है ये कहानी आपको बहुत पसंद आएगी। ये कहानी मेरे एक आशिक यार की और उसकी भाभी की है। अब कहानी सुनिए मेरे उसी आशिक यार की जुबानी।

मेरा नाम रॉकी जिंदल है और मेरी आयु 23 साल है। मैं अभी कुंवारा हूं और मुझे लड़कियों और औरतों में बहुत दिलचस्पी है। मुझे अर्श जैसी बड़े-बड़े बूब्ज़ एवं बडी़ गांड वाली हॉट लड़कियां और औरतों बहुत पसंद हैं। ऐसी लड़कियों को देखकर ही मेरा लंड टाईट हो जाता है और उनको चोदने को बेताब हो जाता हूं।

मेरी किस्मत अच्छी है कि मुझे अपनी पसंद की बहुत सारी लड़कियां, भाभियां और आंटियां चोदने को मिलीं। मेरा कद 5 फीट 8 इंच और रंग गोरा है। मेरा जिस्म सुडौल और लंड 6.5 इंच लंबा एवं 2.5 इंच मोटा है। में बाल एवं आंखें भूरी और चेहरा क्लीन शेव है। ये कहानी मेरे और मेरी भाभी के किए हुए मजे की कहानी है।

मेरी भाभी का नाम ज्योति जिंदल है जो बहुत ही मस्त और हॉट माल है। ज्योति भाभी की आयु 28 साल और कद 5 फीट 5 इंच है। भाभी का रंग एकदम गोरा और बदन भरा हुआ है। भाभी के बाल गहरे काले और लंबे हैं। भाभी की आंखें गहरी काली और नशीली हैं। भाभी के होंठ लाल हैं और होंठों के नीचे छोटा सा काला तिल है। भाभी के बदन की शेप और कामुक चेहरा किसी को भी पागल बना सकता है। भाभी की फिगर का नाप 34डी-28-36 है और चाल बहुत ही कामुक है।

ये बात तीन साल पहले की है जब मेरी आयु 20 साल और भाभी की आयु 25 साल थी। मैं उस टाईम बीकॉम के दूसरे साल में पढ़ता था। एक साल पहले मेरे बडे़ भाई की शादी ज्योति भाभी से हुई थी। जब मैंने भाभी को पहली बार देखा तो देखता ही रह गया वो गुलाबी लहंगे में कयामत ढा रही थी। भाभी घर में साड़ी पहनती थी जिस में से भाभी का गोरा चिकना पेट और गहरी नाभि दिखाई देती थी।

मैं भाभी का गोरा पेट, गहरी नाभि और ब्लाउज में फंसे हुए बूब्ज़ देखकर उत्तेजित हो जाता और बाथरूम में जाकर मुट्ठ मारता। मुझे सपने में भी भाभी का बदन दिखाई देता, रात में मैं भाभी के रूम के दरवाजे से कान लगा कर भाभी की चुदते हुई की आवाजें सुन कर टाईम पास करता।

कुछ ही दिनों में मुझे भाभी की हरकतों से लगने लगा कि वो एक नंबर की चालू।रंडी है। उसकी हरकतें मैं चोरी चोरी देखता वो छत पर खड़ी हो जाती और आते जाते लड़कों को स्माईल देती या भाई के जाते ही फोन पर लग जाती और किसी से धीरे-धीरे बातें करती।

एक दिन मैंने चोरी से भाभी का फोन उठा कर उसमें कॉल रिकॉर्डर लगा दिया। उसके बाद कई दिनों तक मुझे भाभी का फोन उठाने का मौका नहीं मिला। एक दिन भाभी मेरी मॉम के साथ बाजार गई और फोन घर पर भूल गई।

मैंने फोन उठाया और देखने लगा। भाभी की कॉल हिस्ट्री देखकर हैरान रह गया कि भाभी तो मेरी सोच से भी बडी़ चालू रंडी निकली। उसके फोन से अलग लड़कों को कॉल किया हुआ था और बहुत ही सेक्सी बातें भी की हुई थीं।

कॉल हिस्ट्री से एक बात और पता चली वो ये कि दोपहर को जब भैया काम पर, मैं कॉलेज में और मॉम सो जाती तो भाभी अपने आशिकों को घर में बुला कर चुदवाती थी। हमारे घर में जो ड्राइंग रूम है उसका दरवाजा बाहर गली में खुलता है और भाभी उसी रूम में अपने आशिकों से रंग रलियां मनाती थी। कॉल हिस्ट्री के हिसाब से भाभी के 14 आशिक थे।

मैंने भाभी के फोन से काल रिकॉर्डर डिलीट कर दिया और भाभी के आशिकों को देखने के बारे सोचा। मैंने ड्राइंग रूम में अपने कम्पूटर का वैव कैमरा लगा कर छुपा दिया और कम्पूटर से जोड़ लिया। अब मैं रात को भाभी की चुदाई का नजारा देखता। भाभी बिल्कुल रंडी की तरह चुदवाती थी खास कर उसके लंड चूसने का तरीका बहुत ही कामुक था।

मुझे एक बात की हैरानी थी कि भाभी को चोदने वाले सभी लोग 50 साल से ज्यादा के थे उसके बाद मुझे एक आदमी जाना पहचाना लगा, कुछ देर सोचने के बाद याद आया कि वो भाभी के पापा का दोस्त है जिसको भाभी बडे़ पापा बोलती है और एक दिन शादी के बाद वो भाभी के पापा के साथ हमारे घर भी आया था।

उसके बाद मैंने भैया और भाभी की शादी की मूवी देखी और मैंने देखा कि जो जो लोग भाभी को चोदने आते हैं वो सब उसके पापा के दोस्त हैं। मुझे बहुत हैरानी हुई कि मेरी भाभी अपने पापा के दोस्तों के साथ चुदाई करती है।

उस टाईम तक मैं सिर्फ मुट्ठ मारकर ही अपनी गर्मी निकालता था, उस दिन मुझे लगा मुझे भी भाभी की चूत मिल सकती है। मैंने भाभी से बात करने की सोची और काफी सारी हिम्मत इक्कठा की। भाभी से बात करने केलिए मैं कॉलेज नहीं गया। दोपहर में जब मॉम सो गई तब मैंने भाभी के रूम का दरवाजा खटखटाया।

भाभी ने कुछ देर बाद दरवाजा खोला शायद वो अपने किसी आशिक से बात कर रही थी। दरवाजा खोलकर भाभी ने पूछा क्या हुआ रॉकी कुछ चाहिए क्या। मेरा दिल किया कि बोल दूं कि मुझे आपकी चूत चाहिए लेकिन बोल नहीं पाया।

Comments

Scroll To Top