Meri Surprise Suhagraat

Click to this video!
beautyrupa321 2016-10-08 Comments

ये कह कर उसने मुझे लिप्लौक किस करने लगा प्रवीन बोला की ये देखो मैंने मंगलसूत्र भी लाया है और आज की रात तुम मिसेज प्रवीन हो उसने मुझे मंगलसूत्र पहना दिया और अपनी बाँहों में ले कर बेतहाशा चूमने लगा हम दोनों पुरे नंगे थे और एक दुसरे की बाँहों में खो से गए थे।

मैंने प्रवीन को बोला की अब जब तुमने मुझे मंगलसूत्र पहना दिया है तो अब मुझ पर तुम्हारा पूरा हक़ है अपनी रूपा को बाँहों में ले कर उसके पुरे बॉडी का कचूमर निकल दो हम दोनों के अंगों से स्त्राव शुरू हो गया था।

प्रवीन बोला की रूपा रानी तुम बहुत सुन्दर है और तुम्हारी बॉडी बिलकुल अप्सरा की तरह है जी चाहता है की ये रात ख़त्म ही ना हो और हम यूँही प्यार करते रहे अब मुझसे बर्दास्त नहीं हो रहा था मैंने प्रवीन को अपनी ओर खिंचा और कहा की अब तुम लंड तो घुसाओ मेरी चुत में लेकिन धीरे से इतना बड़ा लंड रखे हो तुम मेरे बुर का तो बाजा बजा दौगे।

प्रवीन ने कहा की कुछ नहीं होगा उसने मुझसे कहा की मेरे पति का कितना बड़ा है और वो मुझे कितनी बार चोदता है मैंने कहा की उसका चार इंच का है और हफ्ते में एक बार ही वो मुझे चोदते हैं प्रवीन बोला की ऐसा लगता है की तुम अभी भी जवानी का असली मजा नहीं ली हो आज तुम एक मर्द से चुदोगी।

पहली बार इतना कह कर वो अपना लंड मेरे चुत के ऊपर रगड़ने लगा और धीरे धीरे कर कर पूरा लंड बुर में घुसा दिया और झटके देने लगा मुझे शुरू में दर्द किया पर उसने मेरे लिप्स पर अपना लिप्स रख दिया ताकि मैं चिल्लआऊं नहीं मैं पुरे जोश में थी और कमर उचका उचका कर अपनी बुर में प्रवीन का लंड ले रही थी।

मैं चिल्लाने लगी की प्रवीन आज मेरी नथ उतार डालो जान खूब चोदो अपनी रूपा को जोर से करो ना और कसके जान फाड़ डालो मेरी चुत को राजा खा जाओ इसे कितना मजा आ रहा है प्रवीन पुरे स्पीड से चोदने लगा उसने मेरी दोनों चूची को दबा दबा कर पूरा लाल कर दिया था इतनी स्पीड में वो मुझे चोद रहा था की अचानक हम दोनों की जवानी के रस फुट पड़े और मेरी पूरी चुत भर गयी और हम एक दुसरे की बाहों में समा गए थोड़ी ही देर में प्रवीन फिर उठ खड़ा हुआ।

और बोला की रूपा रानी अब अपने पति का लंड चुसो न उसने तुरंत अपने लंड को मेरे होठों से लगा दिया और मुंह के अन्दर ठेल दियाऔर चुचियों को दबाते हुए पुरे बेग से अन्दर बाहर करने लगा अब हम दोनों पुरी रफ़्तार पकड़ चुके थे।

प्रवीन बोला रूपा अब मेरा लंड तुम्हारे पुए जैसी गांड को मारना चाहता है उसने मुझे पेट के बल लिटाया और अपने लंड और मेरी गांड में सं लगाया और धीरे कर कर घुसाने लगा उसने पुछा की कभी तुम गांड मरवाई हो मैंने बोला की मेरे हसबैंड अनाडी हैं बस ऊपर से ही किया है।

प्रवीन बोला की देखो मेरा लंड तुम्हारीहै चिकनी और दागरहित गांड मारने के लिए कितना उछल रहा है आज तुम्हारा ये पति तुम्हारी गांड मारेगा ये कह कर प्रवीन मेरी गांड में एक झटके से पूरा लंड पेल दिया मैं दर्द से कराहने लगी पर वो गांड मारना बंद नहीं किया और थोड़ी देर में मेरे गांड में ही अपना रस गिरा दिया फिर से हम एक दुसरे की बाँहों में समा गए हमने रात भर में छः बार चुदाई की और एक दुसरे से सट कर और बाहें डाल कर नंगे ही सो गए।

सुबह छः बजे हम फिर उठे और प्रवीन और मैंने कहा की आज सुबह सुबह की चुदाई भी कर ली जाये न जाने कब मौका मिले फिर उसने फिर मुझे चूम चूम कर पूरा उत्तेजित कर दिया और मेरी बुर में लंड डाल कर पेलने लगा मैं तेज आवाज निकाल रही थी और कहे जा रही थी।

की मेरे पति मेरे प्रेमी मेरी बुर देखो तुम्हारे के लिए रो रही है इसे संतुष्ट करो तुम्हारी जिम्मेवारी है इसे चुप कराने की प्रवीन बोला की मेरा लंड अपनी दोस्त तुम्हे बुर को पूरा संतुष्ट कर देगा तुम देखती जाओ ये कह कर वो तेज धक्के लगाने लगा और मैं चिल्लाना शुरू कर दी तब तक दरवाजे पर थाप सुनाइ दी सुनीता आवाज दे रही थी।

कहानी पढ़ने के बाद अपने विचार निचे कोममेंट सेक्शन में जरुर लिखे.. ताकि देसी कहानी पर कहानियों का ये दोर आपके लिए यूँ ही चलता रहे।

हम दोनों ने कहा किधक्का देने दो अब चुदाई के बाद ही खोलेंगे पर हमें ख्याल नहीं रहा की हमने दरवाजा अन्दर से लगाया नहीं है मेरी चुदाई हो ही रही थी की सुनीता और श्याम अन्दर आ गए पर हम तो एक दुसरे में खोए हुए थे मैं सुनीता और श्याम को देख कर चौंक गयी।

Comments

Scroll To Top