Mere Dost Ki Maa Meena – Part 2

Click to this video!
Dilwala Rahul 2016-05-20 Comments

मैं- साली रंडी, झूठ बोलती है, मयूर भाई तेरी माँ एक नंबर की रंडी है, साफ साफ झूठ बोल रही है ये रांड.. मेरी बात सुन मेरे दोस्त, मेरे भाई, इसने मुझे उकसाया तेरी माँ की कसम।।।

मयूर- स्वाति दीदी इसे उधर से घेरो, पकड़ो इस मादरचोद को, आज खाल निकाल दूंगा इस भें के लौड़े की।।।

(किसी तरह मौका देखकर मैं ऐसा नंगा ही दरवाजे से बाहर भाग जाता हूँ और मयूर मेरे पीछे मुझे मारने को दौड़ता है, किसी तरह उसकी नजरों से ओझल होकर मैं झाड़ियों में छिप जाता हूँ और वहीँ सो जाता हूँ, सुबह सुबह पत्तों के कपडे बनाकर अपने घर चला जाता हूँ..

कहानी पढ़ने के बाद अपने विचार निचे कोममेंट सेक्शन में जरुर लिखे.. ताकि देसी कहानी पर कहानियों का ये दोर आपके लिए यूँ ही चलता रहे।

मेरा मयूर के साथ ये विवाद 1 हफ्ते तक रहा लेकिन बाद में मयूर की माँ होटल में 4 आदमियों के साथ पकड़ी गयी तो मयूर को मीना के बारे में सच्चाई का पता चला और बाद में उसने मुझ से माफी मांगी और अपने घर ले गया, कुछ समय बाद मेने स्वाति दीदी को पटा कर खूब चोदा और और मयूर को एक भांजा दिया, लेकिन मयूर चूतिये को आज तक नही पता कि वो किसका भांजा है)

दोस्तों अगर मेरी कहानी पसंद आये तो कमेन्ट पक्का करना, अगर अच्छा रिस्पांस मिला तो मैं और कहानियां लिखूंगा।।।

ये Sex Story पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद।

What did you think of this story??

Comments

Scroll To Top